Full Introduction Of Kaithal District - परिचय जिला कैथल - GoHaryana

Latest

Friday, 4 May 2018

Full Introduction Of Kaithal District - परिचय जिला कैथल

कैथल, हरियाणा का एक प्राचीन शहर है | यह जिला करनाल मंडल के अधीन है | यह जिला अस्तित्व में आने से पहले करनाल व कुरुक्षेत्र का उपमंडल भी रह चुका है | यह राष्ट्रीय राजमार्ग 65 पर स्थित है |

इतिहास 
कैथल हरियाणा का एक एतिहासिक शहर है | पुराणों के अनुसार इसकी स्तापना युधिष्ठर ने की थी | इसे राम भक्त हनुमान का जन्म स्थल भी माना जाता है, इसीलिए इसे कपिल स्थल के नाम से भी जाना जाता है | भारतीय इतिहास के अनुसार यह भारत की प्रथम महिला शासक रजिया सुल्तान के साम्राज्य का भग था | 13 नवम्बर, 1240 को रजिया यहीं पर मृत्यु को प्राप्त हुई | मृत्यु के बाद उन्हें यहीं पर दफना दिया गया और आज भी उसकी कब्र यहाँ पर मोजूद है | रजिया सुल्तान की मृत्यु के पश्चात यहाँ पर कई सिख शासको ने भी शासन किया | भाई उदय सिंह यहाँ के अंतिम शासक थे |

स्थिति : यह जिला हरियाणा के मध्य-उत्तर में स्थित है | इसके पूर्व में उत्तर व पश्चिम में पंजाब राज्य, पूर्व में करनाल और दक्षिण में जींद जिला है |

स्थापना : 01 नवम्बर,  1989 को अस्तित्व में आया

क्षेत्रफल : 2,317 वर्ग किमी

जनसँख्या(2011) : 9,44,631

प्राचीन नाम : कपिल स्थल 

सडकों की कुल लम्बाई : 1,807

विकास दर : 13.55%

लिंग अनुपात : 887

साक्षरता : 69.2%

घनत्व : 463 

मुख्यालय : करनाल 

उप-मण्डल : कैथल, गुलहा और कलायत 

तहसील : कैथल, पुण्डरी, कलायत व गुलहा

उप-तहसील : सीवन, व राजोंद  

खण्ड :  कैथल, पुण्डरी, गुहला-चीका, कलायत, डाणड , सिवान  व राजोंद  

नदियाँ : घग्घर व सरस्वती 

प्रमुख फसलें : गन्ना, चावल, गेंहू, तिलहन और कपास

प्रमुख उद्योग : चीनी, हथकरघा व कृषि उपकरण आदि 

प्रमुख नगर : कैथल, चीका, कलायत व पुण्डरी 

प्रमुख रेलवे स्टेशन : कैथल 

काश्तकार : 31.93%

खेतिहर मजदूर : 10.88%

पारिवारिक उद्योग : 1.21%

पर्यटन स्थल : बाबा पुण्डरक, गुरुद्वारा मंजी साहिब व नीम साहिब, नवग्रह कुण्ड, ग्यारह रूद्री मंदिर, रजिया सुल्तान की कब्र, अंजनी का टीला और बाबा लुदाना 

प्रमुख मेले : पुण्डरक का मेला व फाल्गू का मेला 


Official Website : www.kaithal.gov.in

No comments:

Post a Comment